राजनीतिक दलों को बताना होगा, क्यों दिया दागी नेता को टिकट, पढ़िए सु्प्रीम कोर्ट का बड़ा आदेश

0
79

राजनीति के आपराधीकरण के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को बड़ा फैसला सुनाया। कोर्ट ने सभी राजनीतिक दलों को आदेश दिया कि वे आपराधिक छवि वाले नेता को टिकट देते समय अपनी वेबसाइट पर बताएं कि उसी नेता को टिकट क्यों दिया। दागी नेता से जुड़ी ऐसे सभी प्रकरणों का स्थानीय अखबारों में प्रकाशन होना चाहिए। ऐसा नहीं करने पर कोर्ट की अवमानना मानी जाएगी। वरिष्ठ वकील अश्विनी उपाध्याय की याचिका पर सर्वोच्च अदालत ने यह फैसला सुनाया है। पढ़िए बड़ी बातें –

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, आपराधिक छवि वाले उम्‍मीदवारों का चयन करने के 48 घंटों के भीतर उनकी पूरी प्रोफाइल पार्टी की वेबसाइट पर अपलोड की जाए। साथ ही कोर्ट ने चुनाव आयोग को इस बात की अनुमति दी है कि इन निर्देशों का पालन नहीं किए जाने पर मामले को कोर्ट के संज्ञान में लाया जाए। ऐसे में यदि पार्टियों ने कोर्ट के निर्देश का पालन नहीं किया तो चुनाव आयोग इस मामले को कोर्ट तक ले आएगी।

कोर्ट ने कहा कि पिछले चार आम चुनावों में राजनीति में आपराधीकरण तेजी से बढ़ा है। इसके अनुसार, यदि राजनीतिक दलों द्वारा आपराधिक पृष्ठभूमि के व्यक्ति को टिकट दिया जाता है तो उसका आपराधिक विवरण पार्टी की वेबसाइट पर और सोशल मीडिया पर देना होगा। साथ ही, उन्‍हें यह भी बताना होगा कि किसी बेदाग को टिकट क्यों नहीं दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here