ईरान ने माना- ‘गलती से मार गिराया यूक्रेन का विमान’

0
129

हाल ही में क्रैश हुए यूक्रेन के विमान के मामले में ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी का बयान सामने आया है.उन्होंने ट्वीट कर कहा है, ”सैन्य बलों की आंतरिक जांच इस खेदजनक नतीजे पर पहुंची है कि मानवीय गलती के चलते छोड़ी गईं मिसाइल यूक्रेनियन विमान के क्रैश और 176 निर्दोष लोगों की मौत का कारण बनीं. इस माफ ना की जा सकने वाली गलती और बड़ी त्रासदी के मामले में जांच जारी है.”

इसके अलावा सरकारी टीवी पर प्रसारित हुए एक बयान में ईरानी सेना ने कहा,ईरानी सेना”इस हफ्ते की शुरुआत में ईरान में यूक्रेन का जो विमान क्रैश हुआ था, वो रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स से जुड़े संवेदनशील सैन्य ठिकाने के पास उड़ रहा था.

मानवीय गलती के चलते इस विमान को बिना किसी इरादे के मार गिरा दिया गया था.”

बयान में यह भी कहा गया कि इस मामले के लिए जो जिम्मेदार होगा, उसका मामला मिलिट्री के ज्यूडिशियल डिपार्टमेंट के पास जाएगा.

बता दें कि इस विमान क्रैश में 176 लोगों की जान चली गई थी. यह विमान इराक में अमेरिका की अगुवाई वाली सेनाओं के दो ठिकाने पर ईरानी बैलिस्टिक मिसाइल हमले के कुछ घंटों बाद ही 8 जनवरी को क्रैश हुआ था. इस विमान ने तेहरान के इमाम खुमैनी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी. उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही तेहरान के बाहरी हिस्से में यह विमान क्रैश हो गया था.ईरान ने कई दिनों तक इस बात से इनकार किया था कि इस विमान को मिसाइल ने मार गिराया था.

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने 10 जनवरी को कहा था, ”हम मानते हैं कि इसकी आशंका है कि इस विमान को एक ईरानी मिसाइल द्वारा मार गिराया गया है.”

न्यूज एजेंसी एपी ने संबंधित अधिकारियों के हवाले से बताया कि यूक्रेन की राजधानी कीव जा रहे इस विमान में सबसे ज्यादा ईरान के ही (82) लोग थे. इसके अलावा विमान में कम से कम 57 लोग कनाडा से और 11 लोग यूक्रेन से थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here