US-Iran Tensions LIVE Updates: ईरान के साथ युद्ध से रोकने के लिए अमेरिकी सदन में होगा मतदान

0
58

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को ईरान के साथ युद्ध से रोकने के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी नीत अमेरिका की प्रतिनिधिसभा में बृहस्पतिवार को मतदान होगा। अमेरिका की प्रतिनिधिसभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने यह जानकारी दी। राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या का आदेश दिया था। उसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया।
पेलोसी ने कहा कि डेमोक्रेट अब इस मामले में आगे बढ़ेंगे क्योंकि बुधवार को विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के साथ हुई बातचीत में उनकी चिंताओं का समाधान नहीं निकाला गया।

ईरान और अमेरिका में तनाव के बीच शेयर मार्केट बढ़त के साथ खुला है। सेंसेक्स में 500 अंकों का उछाल और निफ्टी में 151 अंक की वृद्धि हुई।

दोनों देशों के बीच तनाव कम होने की संभावना है। ऐसे में कच्चे तेल की कीमतों में भी कमी आई है। डॉलर के मुकाबले रुपया भी मजबूत हुआ है।

इससे पहले इराक में अमेरिकी सैनिकों के ठिकानों पर मिसाइलें दागने के बाद ईरान ने बुधवार को कहा कि वह इराक की क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करता है। बुधवार तड़के हुए हमले को लेकर इराक ने कहा था कि वह ईरान के राजदूत को तलब करेंगे। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस को लिखे गए पत्र में संयुक्त राष्ट्र में ईरान के राजदूत माजिद तख्त रवांची ने कहा कि उनका देश ‘इराक की स्वतंत्रता, संप्रभुता, एकता और क्षेत्रीय अखंडता का पूरा सम्मान करता है।” इस हमले में इराक या अमेरिका की सेना से कोई हताहत नहीं हुआ।

12:44 (IST) 09 Jan 2020

अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने बुधवार को कहा कि तीन जनवरी को ड्रोन हमले में ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की बगदाद में मौत के बाद अमेरिका ने ईरान के प्रति कुछ कुछ प्रतिरोधी क्षमता बहाल कर ली है। उन्होंने कताएब हिज्बुल्ला (केएच-ईरान सर्मिथत इराकी समूह) का हवाला देते हुए संवाददाताओं से कहा, ”मैं मानता हूं कि इस बिंदू पर जब हमने दिसंबर के अंत में केएच और उसके बाद सुलेमानी के खिलाफ हमले किए इसके बाद मुझे लगता है कि हमने एक स्तर तक प्रतिरोधी क्षमता स्थापित की है।” एस्पर ने कहा, ” लेकिन हम देखेंगे, समय बताएगा।” एस्पर की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब बुधवार को ईरान ने इराक में दो अड्डे को निशाना बनाया गया, जहां अमेरिकी सैनिक रहते हैं। इस हमले में किसी अमेरिकी या इराकी मौत नहीं हुई है।

11:00 (IST) 09 Jan 2020

ट्रंप को ईरान के साथ युद्ध से रोकने के लिए अमेरिकी सदन में होगा मतदान

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को ईरान के साथ युद्ध से रोकने के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी नीत अमेरिका की प्रतिनिधिसभा में बृहस्पतिवार को मतदान होगा। अमेरिका की प्रतिनिधिसभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने यह जानकारी दी। राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या का आदेश दिया था। उसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया।पेलोसी ने कहा कि डेमोक्रेट अब इस मामले में आगे बढ़ेंगे क्योंकि बुधवार को विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के साथ हुई बातचीत में उनकी चिंताओं का समाधान नहीं निकाला गया।

09:38 (IST) 09 Jan 2020

ईरान-US तनाव के बीच बढ़त के साथ खुला शेयर मार्केट

ईरान और अमेरिका में तनाव के बीच शेयर मार्केट बढ़त के साथ खुला है। सेंसेक्स में 500 अंकों का उछाल और निफ्टी में 151 अंक की वृद्धि हुई। दोनों देशों के बीच तनाव कम होने की संभावना है। ऐसे में कच्चे तेल की कीमतों में भी कमी आई है। डॉलर के मुकाबले रुपया भी मजबूत हुआ है।

09:24 (IST) 09 Jan 2020

ईरान ने कहा- हम इराक की संप्रभुता का सम्मान करते हैं

इराक में अमेरिकी सैनिकों के ठिकानों पर मिसाइलें दागने के बाद ईरान ने कहा कि वह इराक की क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करता है। बुधवार तड़के हुए हमले को लेकर इराक ने कहा था कि वह ईरान के राजदूत को तलब करेंगे। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस को लिखे गए पत्र में संयुक्त राष्ट्र में ईरान के राजदूत माजिद तख्त रवांची ने कहा कि उनका देश ‘इराक की स्वतंत्रता, संप्रभुता, एकता और क्षेत्रीय अखंडता का पूरा सम्मान करता है।” इस हमले में इराक या अमेरिका की सेना से कोई हताहत नहीं हुआ।

08:38 (IST) 09 Jan 2020

ईरान पर कड़े प्रतिबंध लगाएगा अमेरिका

ट्रंप ने कहा, ” हमें ईरान के साथ एक समझौता करने के लिए साथ मिलकर काम करना चाहिए जो दुनिया को एक सुरक्षित तथा और शांतिपूर्ण स्थान बनाए।” ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने ऊर्जा के मामले में आत्मनिर्भरता हासिल कर ली है और उसे पश्चिम एशिया के तेल की जरूरत नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि उनका प्रशासन ईरान पर तत्काल अतिरिक्त आर्थिक प्रतिबंध लगाएगा। ट्रंप ने कहा, ”ये कड़े प्रतिबंध तब तक रहेंगे जबतक ईरान अपने व्यवहार में बदलाव नहीं लाता।” उन्होंने कहा, ” बहुत लंबे वक्त से, सटीक रूप से बोलें तो 1979 से, पश्चिम एशिया और अन्य जगहों के देश ईरान के विशानकारी और अस्थिर करने वाले व्यवहार को सहन कर रहे हैं। वे दिन बीत चुके हैं।” ट्रंप ने कहा कि ईरान जब तक आतंकवाद को शह देना बंद नहीं करेगा तब तक पश्चिम एशिया में शांति और स्थिरता नहीं आ सकती। ट्रंप ने नाटो से पश्चिम एशिया की प्रक्रिया में और अधिक शामिल होने को कहा।

08:17 (IST) 09 Jan 2020

अपनी परमाणु महत्वकांक्षा छोड़ दे ईरान: ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति ने संकल्प जताया कि वह ईरान को कभी भी परमाणु हथियार हासिल नहीं करने देंगे। ट्रंप ने कहा, ” जब तक मैं अमेरिका का राष्ट्रपति हूं, मैं ईरान को कभी भी परमाणु हथियार हासिल नहीं करने दूंगा।” राष्ट्रपति ट्रंप ने बराक ओबामा के शासनकाल में ईरान परमाणु समझौते को ‘बहुत ही दोषपूर्ण और ‘मूर्खता’ वाला करार दिया। ट्रंप ने कहा, ”ईरान को अपनी परमाणु महत्वाकांक्षाओं को छोड़ देना चाहिए और आतंकवाद को अपना समर्थन बंद करना चाहिए।” ईरान ने बुधवार को ऐलान किया कि वह समझौते से आंशिक रूप से अलग हो रहा है। ट्रंप पहले ही अमेरिका को इस समझौते से अलग कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि यह समझौता अपेक्षित लक्ष्य हासिल नहीं करता था। ट्रंप ने अन्य साझेदारों से भी इस समझौते से अलग होने की अपील की।

22:11 (IST) 08 Jan 2020

यदि अमेरिका ने अपराध किया है…तो उसे पता होना चाहिए कि उसे मुंहतोड़ जवाब मिलेगा

इराक स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर ईरान के मिसाइल हमलों के कुछ घंटों बाद रूहानी ने टेलीविजन पर प्रसारित एक संबोधन में कहा, ”यदि अमेरिका ने अपराध किया है…तो उसे पता होना चाहिए कि उसे मुंहतोड़ जवाब मिलेगा। वहीं, ईरान ने अपनी ओर से की गई हालिया कार्रवाई को अमेरिका के मुंह पर करारा तमाचा करार दिया। यह प्रतिक्रिया देश के सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह खामेनेई की ओर से आई है। दरअसल, अमेरिका और ईरान के बीच पिछले कई महीनों से तनाव की स्थिति बनी हुई है, जो अमेरिकी हवाई हमले में ईरान के शीर्ष कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद और बढ़ गई है।

21:29 (IST) 08 Jan 2020

इराक में अमेरिकी ठिकानों पर ईरान के हमले से कच्चे तेल के दाम चढ़े, बाद में नीचे आए

इराक में अमेरिकी ठिकानों पर ईरान के मिसाइल हमलों के बाद विश्व बाजार में कच्चे तेल के दाम 4.5 प्रतिशत चढ़ गये। ईरान ने यह हमला अमेरिका के हमले में उसके शीर्ष जनरल के मारे जाने का बदला लेने के लिये किया। दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के बाद ब्रेंट और न्यूयार्क बाजारों में कच्चे तेल के दाम पिछले कई माह के शीर्ष स्तर पर पहुंच गये।

20:25 (IST) 08 Jan 2020

कुवैत ने अमेरिकी सैनिकों की वापसी की खबरों से किया इनकार

कुवैत ने बुधवार को इन खबरों से इनकार किया कि अमेरिका ने इस खाड़ी देश से अपने सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किया है और कहा कि उसकी आधिकारिक समाचार एजेंसी के ट्विटर अकाउंट को हैक कर लिया गया था। सरकारी कुवैत न्यूज एजेंसी ने ट्वीट किया कि कुवैती रक्षा मंत्री को अमेरिकी बलों के कमांडर ने तीन दिनों के अंदर अरीफजन सैन्य अड्डे से अपने सैनिकों को वापस बुलाने के इरादे की सूचना दी है।

19:41 (IST) 08 Jan 2020

भारत के लिए संकट जैसी कोई स्थिति नहींः धर्मेंद्र प्रधान

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बुधवार को कहा कि अमेरिका-ईरान तनाव के कारण कच्चा तेल की वैश्विक कीमतों में आ रही तेजी को देखते हुए भारत हर तरह की परिस्थितियों से निपटने के लिये सभी स्तर पर तैयारियां कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत के लिये अभी संकट जैसी कोई स्थिति नहीं है

18:54 (IST) 08 Jan 2020

इराक के राष्ट्रपति ने ईरान के मिसाइल हमलों की निन्दा की

इराक के राष्ट्रपति ने ईरान की तरफ से अमेरिकी ठिकानों पर के मिसाइल हमलों की निन्दा की। राष्ट्रपति सालेह ने कहा कि हम इस हमले की निंदा करते हैं।

18:24 (IST) 08 Jan 2020

नेतन्याहू ने अमेरिका-ईरान के बीच तनाव के मद्देनजर ईरान को दी चेतावनी

इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अमेरिका-ईरान के बीच तनाव के मद्देनजर ईरान को चेतावनी दी है। नेतन्याहू ने कहा कि यदि हम पर हमला हुआ तो हम बड़ा झटका देंगे। इससे पहले ईरान की ओर से इराक में अमेरिका के ठिकानों पर हमले के बाद इन दोनों मुल्कों के बीच तनातनी और बढ़ गई है।

17:55 (IST) 08 Jan 2020

सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए किया हमला

ईरान ने सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए बुधवार को इराक स्थित अमेरिकी सैन्य बलों के ठिकानों पर हमले किए। ईरान की रिवोल्यूशनरी गार्ड कोर ने एक बयान में कहा कि ”ऑपरेशन मार्टिर सुलेमानी” अमेरिकी हमलावरों के आपराधिक एवं आतंकी अभियान के जवाब और सुलेमानी की कायराना हत्या एवं दर्दनाक शहादत का बदला लेने के लिए था। इसमें कहा गया, ”अमेरिकी आतंकी सेना के हमलावर हवाई प्रतिष्ठान पर जमीन से जमीन पर मार करने वाली दर्जनों मिसाइलें दागी गईं…एन अल असद, और यह ठिकाना नष्ट कर दिया गया।”

17:50 (IST) 08 Jan 2020

अमेरिका के साथ तनाव घटाने के भारत के किसी भी कदम का स्वागत करेगा ईरान: राजदूत

भारत में नियुक्त ईरानी राजदूत अली चेगेनी ने बुधवार को कहा कि ईरान अपने सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद अमेरिका के साथ बढ़े तनाव को घटाने में भारत की किसी भी शांति पहल का स्वागत करेगा। ईरान के राजदूत ने यह आशा भी जताई कि उनके देश और अमेरिका के बीच आक्रामकत और अधिक नहीं बढ़ेगी। इराक में अमेरिकी सेना और गठबंधन बलों के कम से कम दो ठिकानों को निशाना बना कर ईरान द्वारा एक दर्जन से अधिक बैलिस्टिक मिसाइलें दागे जाने के कुछ ही घंटों बाद राजदूत की यह टिप्पणी आई है।

17:25 (IST) 08 Jan 2020

दुर्घटनाग्रस्त हुए बोइंग विमान की जांच दो दिन पहले ही हुई थी: यूक्रेन एयरलाइन

ईरान की राजधानी तेहरान से उड़ान भरने के कुछ देर बाद दुर्घटनाग्रस्त हुए यूक्रेन के विमान की जांच दो दिन पहले ही की गई थी। इस दुर्घटना में 170 लोगों की मौत हो गई। बोइंग 737 विमान का निर्माण 2016 में हुआ था।

17:03 (IST) 08 Jan 2020

हमले में 80 आतंकी अमेरिकी सैनिकों” के मारे जाने का दावा

ईरान के सरकारी टेलीविजन ने मिसाइल हमलों में जहां ”कम से कम 80 आतंकी अमेरिकी सैनिकों” के मारे जाने का दावा किया, वहीं अमेरिकी रक्षा विभाग के मुख्यालय भवन पेंटागन ने कहा कि वह नुकसान के आकलन पर काम कर रहा है। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय गठबंधन के हिस्से के रूप में लगभग पांच हजार अमेरिकी सैनिक इराक में तैनात हैं।

17:01 (IST) 08 Jan 2020

इंजन फेल होना हो सकता विमान दुर्घटना का कारण

ईरान में उक्रेन की एजेंसी ने बयान जारी कर कहा है कि विमान हादसे की वजह विमान का इंजन फेल होना हो सकता है। वहीं, ईरान ने कहा है कि वह विमान का ब्लैक बॉक्स नहीं देगा।

16:13 (IST) 08 Jan 2020

मिसाइल हमले के बाद यूएई एयरलाइन ने बगदाद के लिए उड़ानों को रद्द किया

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की अमीरात एयरलाइन और फ्लाईदुबई ने बुधवार को कहा कि उन्होंने परिचालन कारणों को लेकर बगदाद के लिए उड़ाने रद्द कर दी हैं। अमेरिकी सैनिकों के ठिकानों पर ईरान के बैलिस्टिक मिसाइल दागे जाने के बाद यह कदम उठाया गया है।

15:52 (IST) 08 Jan 2020

ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड ने दी थी धमकी

ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड के अगुवा हुसैन सलामी ने अमेरिका के समर्थन वाले स्थानों को ”आग के हवाले” करने की मंगलवार को धमकी दी थी। सलामी ने कर्मन के एक चौराहे पर जमा हुए हजारों लोगों के सामने यह प्रतिज्ञा ली थी। कर्मन मृतक जनरल कासिम सुलेमानी का गृह प्रदेश है। सुलेमानी की मौत के बाद पूरे पश्चिम एशिया में हालात तनावपूर्ण हैं।

15:19 (IST) 08 Jan 2020

राष्ट्रीय सुरक्षा दल से परामर्श कर रहे ट्रंप

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रिशम ने बताया कि राष्ट्रपति ट्रम्प को मौजूदा स्थिति की जानकारी दे दी गई है। ग्रिशम ने कहा, ” हम इराक में अमेरिकी केन्द्रों पर हमले की खबरों से वाकिफ हैं। राष्ट्रपति को इसकी जानकारी दे दी गई है और वह स्थिति पर करीब से नजर बनाए हुए हैं तथा राष्ट्रीय सुरक्षा दल से परामर्श कर रहे हैं। ”

14:46 (IST) 08 Jan 2020

प्रारंभिक नुकसान का आकलन कर रहा अमेरिका

अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रपति ट्रम्प को इस संबंध में जानकारी दे दी गई है और वह स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। पेंटागन के प्रवक्ता जोनाथन हॉफमैन ने ईरान के मिसाइल हमले की पुष्टि करते हुए कहा, ” हम युद्ध में हुए प्रारंभिक नुकसान का आकलन कर रहे हैं।”

14:29 (IST) 08 Jan 2020

बदला

सात जनवरी 2020 : रिवोल्यूशनरी गार्ड के अगुवा हुसैन सलामी ने कहा ईरान इसका ”बदला लेगा”। आठ जनवरी 2020 : ईरान ने इराक स्थित ऐसे कम से कम दो सैन्य अड्डों पर एक दर्जन से अधिक बैलिस्टिक मिसाइल दागी जहां अमेरिकी सेना और उसके सहयोगी बल ठहरे हुए हैं।

14:29 (IST) 08 Jan 2020

तीन जनवरी 2020

तीन जनवरी 2020 : अमेरिकी हवाई हमले में ईरान के शीर्ष कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत हो गई। पेंटागन ने कहा कि बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर हुए हमले के बाद राष्ट्रपति ट्रम्प ने इसके आदेश दिए थे।

14:29 (IST) 08 Jan 2020

31 दिसम्बर 2019

31 दिसम्बर 2019 : हमले से नाराज ईरान समर्थक प्रदर्शनकारियों ने बगदाद में अमेरिकी दूतावास परिसर में हमला बोल दिया। ट्रम्प ने ईरान को इसकी ” बड़ी कीमत चुकाने” की धमकी दी।

14:28 (IST) 08 Jan 2020

29 दिसम्बर 2019

29 दिसम्बर 2019 : अमेरिका ने इराक में ईरान सर्मिथत एक समूह पर हवाई हमले किए, कम से कम 25 लड़ाके मारे गए। ये 27 दिसम्बर को इराक में अमेरिकी हितों पर किए रॉकेट हमलों का जवाब था।

14:28 (IST) 08 Jan 2020

सात नवम्बर 2019

सात नवम्बर 2019 : तेहरान अपने भूमिगत फोर्डा संयंत्र में यूरेनियम संवर्धन का काम शुरू कर, 2015 परमाणु समझौते का चौथी बार उल्लंघन किया।

13:59 (IST) 08 Jan 2020

20 सितम्बर 2019

20 सितम्बर 2019: ट्रम्प ने ईरान के केन्द्रीय बैंक को नुकसान पहुंचाने वाले ” किसी देश पर लगाए गए सबसे बड़े प्रतिबंधों” की घोषणा की।

13:35 (IST) 08 Jan 2020

इराक में सैन्य अड्डों पर 22 मिसाइलों के हमले में कोई इराकी जख्मी नहीं

इराकी सेना ने बुधवार को कहा कि यहां अमेरिकी सैनिकों के दो अड्डों पर हुए हमलों में कोई इराकी घायल नहीं हुआ है। इराकी सेना कमान ने एक बयान में कहा, ” देर रात एक बजकर 45 मिनट से सवा दो बजे के बीच इराक में 22 मिसाइलें दागी गईं… 17 ऐन अल-असद एयरबेस में और पांच एरबिल शहर में दागी गई।” उसने कहा कि इन स्थानों का इस्तेमाल अमेरिकी नेतृत्व वाला गठबंधन करता है।

सेना ने कहा, ” घायलों में इराकी बल का कोई सदस्य शामिल नहीं है।” बता दें कि अमेरिका द्वारा ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी को ड्रोन हमने में मारने के बाद से ही दोनों देशों में तनातनी चल रही है। इसके बाद इराक में अमेरिकी एयरबेस पर ईरान द्वारा मिसाइलों से हमला किए जाने की खबर है। पेंटागन के मुताबिक उसके एयरबेस पर एक दर्जन से ज्यादा मिसाइलें दागी गई हैं। एयरबेस पर अमेरिका के साथ गंठबंधन सेनाएं तैनात हैं।

13:11 (IST) 08 Jan 2020

14 सितम्बर 2019

14 सितम्बर 2019 : यमन के ईरान सर्मिथत हूती विद्रोहियों द्वारा किए गए हवाई हमलों में सऊदी के दो प्रमुख तेल प्रतिष्ठानों में आग लग गई। तेहरान ने अमेरिका और अन्य ताकतों पर संलिप्तता का आरोप लगाया, लेकिन उन्होंने इसे खारिज कर दिया।

13:10 (IST) 08 Jan 2020

18 जुलाई 2019

18 जुलाई 2019 : ट्रम्प ने कहा कि होर्मुज के जलडमरूमध्य में खतरनाक तरीके से उनकी नौकाओं के पास आए ईरानी ड्रोन को अमेरिकी सेना ने मार गिराया।

13:09 (IST) 08 Jan 2020

24 जून 2019

24 जून 2019: ट्रम्प ने ईरान के शीर्ष नेता आयतुल्लाह अली खमनेई और वरिष्ठ ईरानी सैन्य नेताओं पर कड़े वित्त प्रतिबंध लगाने की घोषणा की।

13:09 (IST) 08 Jan 2020

20 जून 2019

20 जून 2019 : ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड ने कहा कि उसने होर्मुज के जलडमरूमध्य के पास ईरानी हवाई क्षेत्र का उल्लंघन कर रहे अमेरिकी ड्रोन को गिराया। ट्रम्प ने जवाबी हमले का आदेश दिया, लेकिन आखिरी क्षण में उसे खारिज कर दिया।

13:07 (IST) 08 Jan 2020

13 जून 2019

13 जून 2019 : दो टैंकरों (नॉर्वेजियन और जापान के) पर ओमान की खाड़ी में हमला। वांिशगटन, लंदन और रियाद ने ईरान पर आरोप लगाया, जिसने संलिप्तता से इनकार किया।

13:06 (IST) 08 Jan 2020

25 मई 2019

25 मई 2019 : अमेरिका ने कहा कि ईरान से उत्पन्न खतरों से निपटने के लिए वह 1500 अतिरिक्त सैनिकों को पश्चिम एशिया में तैनात करेगा।

13:06 (IST) 08 Jan 2020

12 मई 2019

12 मई 2019 : खाड़ी में रहस्यमय हमले में तीन तेल टैंकर सहित चार नौकाएं क्षतिग्रस्त हुईं। अमेरिका ने ईरान पर इसका आरोप लगाया।

13:05 (IST) 08 Jan 2020

आठ, मई 2019

आठ, मई 2019 : अमेरिका के अंतरराष्ट्रीय 2015 समझौते से बाहर होने, ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर अंकुश लगाने और प्रतिबंधों को फिर से लागू करने के एक साल बाद तेहरान ने परमाणु कार्यक्रम वापस शुरू करने की धमकी दी।

12:49 (IST) 08 Jan 2020

पांच, मई 2019

पांच, मई 2019 : व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सलाहकार जॉन बोल्टन ने पश्चिम एशिया में अपने एक विमान वाहक और एक बमवर्षक बल की तैनाती की घोषणा की।

12:41 (IST) 08 Jan 2020

आठ, अप्रैल 2019

आठ, अप्रैल 2019 : वांशगटन ने ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड कोर को ”आतंकवादी” समूह घोषित किया। उसका कुर्द बल भी काली सूची में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here